Upsssc Pet Exam 2021: What Is The Normalization Process, What Will Be Its Effect If It Is Implemented In Pet-safalta – Upsssc Pet Exam 2021: क्या होती है नॉर्मलाईजेशन प्रक्रिया, Pet में लागू होने से क्या पड़ेगा इसका प्रभाव

सार

उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग द्वारा प्रारम्भिक अहर्ता परीक्षा के लिए कराई जाने वाली लिखित परीक्षा की सुनश्चित तारीखों का ऐलान कर दिया गया है, जिसके अनुसार ये एग्जाम जल्द ही एक महीने के बाद 20 अगस्त को कराई जानी तय हैं।

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

क्या आपको प्रसामान्यीकरण (Normalization) प्रक्रिया की जानकारी है? क्या आप इस प्रोसेस के फायदे और नुकसान से वाकिफ हैं? क्या आप जानते हैं कि इस प्रक्रिया में किस प्रणाली को अपनाकर उम्मीदवारों को समान अंक देकर मेरिट बनाई जाती है? आज हम इस आर्टिकल में इन्हीं तमाम सवालों के जवाब आपको बेहद ही आसान भाषा में समझाने का प्रयास करने जा रहे हैं। आपको बता दें कि जब किसी भर्ती का आयोजन किया जाता है तो आयोजित की जाने वाली भर्ती में लाखों की संख्या में उम्मीदवारों के द्वारा आवेदन किए जाते हैं फिर वे परीक्षाएं रेलवे (Railway) या एसएससी (SSC) की हो, या फिर किसी राज्य सरकार के द्वारा निकाली गई भर्ती जैसे यूपी पुलिस कांस्टेबल या एसआई की। आवेदन प्रक्रिया पूरी होने के बाद सभी उम्मीदवारों को परीक्षा के लिए बुलाया जाता है। चूंकि परीक्षा के लिए लाखों अभ्यर्थियों ने दावेदारी की थी इसलिए सभी का एग्जाम कई पालियों में पूरा कराया जाता है। ऐसे में सभी पालियों के पेपर भी अलग-अलग प्रश्नों के साथ बनाए जाते हैं। अब इन सभी पेपर का समान मूल्यांकन करने के लिए भर्ती आयोग या भर्ती बोर्ड के जरिए जो पद्धति अपनाई जाती है उसे ही प्रसामान्यीकरण या (Normalization) प्रक्रिया कहा जाता है।

आईए जानते हैं कैसे होता है प्रसामान्यीकरण 

मान लीजिए किसी भर्ती में 900 उम्मीदवारों ने आवेदन किया है, जिनकी परीक्षाएं क्रमश: पाली प्रथम, द्वितीय और तृतीय पाली में सम्पन्न कराई गई है जिसमें प्रति पाली 300 सौ के हिसाब से अभ्यर्थियों को बैठाया गया था। अब प्रथम पाली के परीक्षार्थियों को मिले कुल अंकों का औसत निकाल लिया जाता है इसी तरह दूसरी और तीसरी पाली के परीक्षार्थियों को प्राप्त कुल अंकों का औसत भी निकाल लिया जाता है। अब जिस पाली के उम्मीदवारों को सबसे अधिक अंक प्राप्त होते हैं उसकी तुलना में कम नंबर पाने वाली पाली के अभ्यर्थियों उतने ही नंबर अधिक दे दिए जाते हैं और इसके बाद प्रत्येक वर्ग के हिसाब से एक अधिकतम कटऑफ़ घोषित कर दिया जाता है।

PET में प्रसामान्यीकरण लागू होना से किन्हें होगा फायदा 

आपको बता दें कि उतर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने पहली बार लागू की गई प्रारम्भिक अहर्ता के लिए होने वाली परीक्षा की तारीखों का ऐलान कर दिया है। आयोग ने इस परीक्षा को 20 अगस्त को कराने का फैसला लिया है। चूंकि इस एग्जाम के लिए करीब 21 लाख उम्मीदवारों ने आवेदन किया है जिस कारण इस परीक्षा का आयोजन दो पालियों में किया जाना है। ऐसे में जिन पाली के परीक्षार्थियों का पेपर आसान होगा उनके अंक तो ज्यादा आएंगे पर प्रसामान्यीकरण प्रक्रिया के बाद उनके नंबर कम हो जाएंगे जबकि इसकी विपरीत परीक्षार्थियों के अंक तो कम आएंगे लेकिन इस प्रॉसेस के लागू होने के पश्चात उनके नंबर बढ़ जाएंगे। 

कैसे करें घर बैठे PET की तैयारी 

अगर आप UPSSSC-PET में शामिल हो रहे हैं तो आप Safalta  द्वारा चलाए जा रहे फ्री Safalta Class के साथ इस बचे हुए समय में कंप्लीट रिवीजन और प्रैक्टिस कर सकते हैं। यहां सभी प्रतियोगी परीक्षाओं जैसे UPSI, UP-ASI, PET. CTET, UPTET, पॉलिटेक्निक, NDA/NA, CDS, AFCAT समेत लगभग एग्जाम की दिल्ली की बेस्ट फैकल्टी द्वारा लाइव क्लासेस के साथ तैयारी कराई जा रही है। इसके अलावा उम्मीदवार आज ही नीचे दिए Safalta  द्वारा चलाए जाने वाले इस खास बैच को भी ज्वॉइन कर सकते हैं जहां और भी बहुत मुहैया कराया जा रहा है।

विस्तार

क्या आपको प्रसामान्यीकरण (Normalization) प्रक्रिया की जानकारी है? क्या आप इस प्रोसेस के फायदे और नुकसान से वाकिफ हैं? क्या आप जानते हैं कि इस प्रक्रिया में किस प्रणाली को अपनाकर उम्मीदवारों को समान अंक देकर मेरिट बनाई जाती है? आज हम इस आर्टिकल में इन्हीं तमाम सवालों के जवाब आपको बेहद ही आसान भाषा में समझाने का प्रयास करने जा रहे हैं। आपको बता दें कि जब किसी भर्ती का आयोजन किया जाता है तो आयोजित की जाने वाली भर्ती में लाखों की संख्या में उम्मीदवारों के द्वारा आवेदन किए जाते हैं फिर वे परीक्षाएं रेलवे (Railway) या एसएससी (SSC) की हो, या फिर किसी राज्य सरकार के द्वारा निकाली गई भर्ती जैसे यूपी पुलिस कांस्टेबल या एसआई की। आवेदन प्रक्रिया पूरी होने के बाद सभी उम्मीदवारों को परीक्षा के लिए बुलाया जाता है। चूंकि परीक्षा के लिए लाखों अभ्यर्थियों ने दावेदारी की थी इसलिए सभी का एग्जाम कई पालियों में पूरा कराया जाता है। ऐसे में सभी पालियों के पेपर भी अलग-अलग प्रश्नों के साथ बनाए जाते हैं। अब इन सभी पेपर का समान मूल्यांकन करने के लिए भर्ती आयोग या भर्ती बोर्ड के जरिए जो पद्धति अपनाई जाती है उसे ही प्रसामान्यीकरण या (Normalization) प्रक्रिया कहा जाता है।

आईए जानते हैं कैसे होता है प्रसामान्यीकरण 

मान लीजिए किसी भर्ती में 900 उम्मीदवारों ने आवेदन किया है, जिनकी परीक्षाएं क्रमश: पाली प्रथम, द्वितीय और तृतीय पाली में सम्पन्न कराई गई है जिसमें प्रति पाली 300 सौ के हिसाब से अभ्यर्थियों को बैठाया गया था। अब प्रथम पाली के परीक्षार्थियों को मिले कुल अंकों का औसत निकाल लिया जाता है इसी तरह दूसरी और तीसरी पाली के परीक्षार्थियों को प्राप्त कुल अंकों का औसत भी निकाल लिया जाता है। अब जिस पाली के उम्मीदवारों को सबसे अधिक अंक प्राप्त होते हैं उसकी तुलना में कम नंबर पाने वाली पाली के अभ्यर्थियों उतने ही नंबर अधिक दे दिए जाते हैं और इसके बाद प्रत्येक वर्ग के हिसाब से एक अधिकतम कटऑफ़ घोषित कर दिया जाता है।

PET में प्रसामान्यीकरण लागू होना से किन्हें होगा फायदा 

आपको बता दें कि उतर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने पहली बार लागू की गई प्रारम्भिक अहर्ता के लिए होने वाली परीक्षा की तारीखों का ऐलान कर दिया है। आयोग ने इस परीक्षा को 20 अगस्त को कराने का फैसला लिया है। चूंकि इस एग्जाम के लिए करीब 21 लाख उम्मीदवारों ने आवेदन किया है जिस कारण इस परीक्षा का आयोजन दो पालियों में किया जाना है। ऐसे में जिन पाली के परीक्षार्थियों का पेपर आसान होगा उनके अंक तो ज्यादा आएंगे पर प्रसामान्यीकरण प्रक्रिया के बाद उनके नंबर कम हो जाएंगे जबकि इसकी विपरीत परीक्षार्थियों के अंक तो कम आएंगे लेकिन इस प्रॉसेस के लागू होने के पश्चात उनके नंबर बढ़ जाएंगे। 

कैसे करें घर बैठे PET की तैयारी 

अगर आप UPSSSC-PET में शामिल हो रहे हैं तो आप Safalta  द्वारा चलाए जा रहे फ्री Safalta Class के साथ इस बचे हुए समय में कंप्लीट रिवीजन और प्रैक्टिस कर सकते हैं। यहां सभी प्रतियोगी परीक्षाओं जैसे UPSI, UP-ASI, PET. CTET, UPTET, पॉलिटेक्निक, NDA/NA, CDS, AFCAT समेत लगभग एग्जाम की दिल्ली की बेस्ट फैकल्टी द्वारा लाइव क्लासेस के साथ तैयारी कराई जा रही है। इसके अलावा उम्मीदवार आज ही नीचे दिए Safalta  द्वारा चलाए जाने वाले इस खास बैच को भी ज्वॉइन कर सकते हैं जहां और भी बहुत मुहैया कराया जा रहा है।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.