The Story Of Bareilly Will Be Told ‘bamboo City’, Ahichchhatra Will Be Rejuvenated – बरेली की कहानी कहेगी ‘बांस नगरी’, अहिच्छत्र का होगा कायाकल्प

बांस-अहिच्छत्र नगरी का कुछ इस तरह होगा खाका।
– फोटो : अमर उजाला ब्यूरो, बरेली

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

डीएम ने तैयार कराया बांस-अहिच्छत्र नगरी का डिजाइन
छह माह में पूरा होगा निर्माण कार्य, डीएम क्रिटिकल गैप फंड से होगा खर्च

बरेली। लखनऊ से बरेली के प्रवेश बिंदु रजऊ परसपुर तिराहे पर बांस नगरी और जरी जरदोजी पार्क का निर्माण किया जाएगा। साथ ही आंवला मार्ग स्थित अहिच्छत्र परिसर के कायाकल्प किए जाने की योजना भी डीएम नितीश कुमार ने बनाई है। निर्माण कार्य के लिए डिजाइन तैयार हो चुका है। ये निर्माण कार्य डीएम क्रिटिकल गैप फंड से कराया जाएगा।
डीएम नितीश कुमार ने पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए बरेली की पहचान बांस, जरी जरदोजी और अहिच्छत्र को एक साथ संवारने की योजना बनाई है। योजना के अनुसार लखनऊ से बरेली के प्रवेश बिंदु रजऊ परसपुर से सेटेलाइट के लिए मुड़ने वाले तिराहे पर बरेली की पारंपरिक हस्तकला जरी जरदोजी को प्रदर्शित करता हुआ झांकी जैसा हरा भरा पार्क लोगों का स्वागत करेगा। इस पर ‘जरी जरदोजी नगर में आपका स्वागत है’ लिखा होगा। इसी मार्ग पर बांस नगरी के रूप में भी एक और छोटा सा पार्क बनेगा, जो बरेली की कहानी कहेगा और लिखा होगा ‘बांस नगरी बरेली’।
बरेली से आंवला मार्ग पर अहिच्छत्र नगरी के वैभव को दर्शाया जाएगा। ताकि बरेली पहुंचने वाले लोग बरेली के समृद्ध प्राचीन और आधुनिक स्वरूप को हमेशा याद रखें। बरेली आंवला मार्ग पर पुल के पास हरे भरे पार्क का निर्माण किया जाएगा, जो अहिच्छत्र नगरी बरेली में लोगों का स्वागत करेगा। डीएम ने बताया कि निर्माण कार्य डीएम क्रिटिकल गैप फंड से कराया जाएगा। किसी विभाग के बजट का उपयोग नहीं होगा। उन्होंने बताया कि बरेली हवाई मार्ग से जुड़ गया है, इसलिए बरेली की हस्तकला और पारंपरिक उद्यमों की मार्केटिंग के अवसर बढ़ेंगे।

फसल बीमा के लिए जागरूकता अभियान शुरू

बरेली। अमृत महोत्सव के तहत बृहस्पतिवार को डीएम ने कलक्ट्रेट परिसर से ‘फसल बीमा/प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना सप्ताह’ के प्रचार वाहन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। उप निदेशक कृषि अशोक यादव ने कार्यक्रम संचालन किया। प्रचार वाहन प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की जिज्ञासा का समाधान करेगा। दस जुलाई तक सभी ब्लॉक में वाहन पहुंचाने का लक्ष्य है। ब्यूरो

डीएम ने तैयार कराया बांस-अहिच्छत्र नगरी का डिजाइन

छह माह में पूरा होगा निर्माण कार्य, डीएम क्रिटिकल गैप फंड से होगा खर्च

बरेली। लखनऊ से बरेली के प्रवेश बिंदु रजऊ परसपुर तिराहे पर बांस नगरी और जरी जरदोजी पार्क का निर्माण किया जाएगा। साथ ही आंवला मार्ग स्थित अहिच्छत्र परिसर के कायाकल्प किए जाने की योजना भी डीएम नितीश कुमार ने बनाई है। निर्माण कार्य के लिए डिजाइन तैयार हो चुका है। ये निर्माण कार्य डीएम क्रिटिकल गैप फंड से कराया जाएगा।

डीएम नितीश कुमार ने पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए बरेली की पहचान बांस, जरी जरदोजी और अहिच्छत्र को एक साथ संवारने की योजना बनाई है। योजना के अनुसार लखनऊ से बरेली के प्रवेश बिंदु रजऊ परसपुर से सेटेलाइट के लिए मुड़ने वाले तिराहे पर बरेली की पारंपरिक हस्तकला जरी जरदोजी को प्रदर्शित करता हुआ झांकी जैसा हरा भरा पार्क लोगों का स्वागत करेगा। इस पर ‘जरी जरदोजी नगर में आपका स्वागत है’ लिखा होगा। इसी मार्ग पर बांस नगरी के रूप में भी एक और छोटा सा पार्क बनेगा, जो बरेली की कहानी कहेगा और लिखा होगा ‘बांस नगरी बरेली’।

बरेली से आंवला मार्ग पर अहिच्छत्र नगरी के वैभव को दर्शाया जाएगा। ताकि बरेली पहुंचने वाले लोग बरेली के समृद्ध प्राचीन और आधुनिक स्वरूप को हमेशा याद रखें। बरेली आंवला मार्ग पर पुल के पास हरे भरे पार्क का निर्माण किया जाएगा, जो अहिच्छत्र नगरी बरेली में लोगों का स्वागत करेगा। डीएम ने बताया कि निर्माण कार्य डीएम क्रिटिकल गैप फंड से कराया जाएगा। किसी विभाग के बजट का उपयोग नहीं होगा। उन्होंने बताया कि बरेली हवाई मार्ग से जुड़ गया है, इसलिए बरेली की हस्तकला और पारंपरिक उद्यमों की मार्केटिंग के अवसर बढ़ेंगे।

फसल बीमा के लिए जागरूकता अभियान शुरू

बरेली। अमृत महोत्सव के तहत बृहस्पतिवार को डीएम ने कलक्ट्रेट परिसर से ‘फसल बीमा/प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना सप्ताह’ के प्रचार वाहन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। उप निदेशक कृषि अशोक यादव ने कार्यक्रम संचालन किया। प्रचार वाहन प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की जिज्ञासा का समाधान करेगा। दस जुलाई तक सभी ब्लॉक में वाहन पहुंचाने का लक्ष्य है। ब्यूरो

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.