Policemen Of Varanasi Police Commissionerate Missing Without Informing All Suspend – वाराणसी पुलिस कमिश्नरेट के 16 पुलिसकर्मी बिना बताए गायब: गैरहाजिर चल रहे सभी कर्मी निलंबित, महकमे में हड़कंप

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, वाराणसी
Published by: हरि User
Updated Fri, 09 Jul 2021 12:31 PM IST

सार

पुलिस आयुक्त ए सतीश गणेश की सख्ती लापरवाह पुलिसकर्मियों पर भारी पड़ी। दशाश्वमेध थाने की महिला आरक्षी कुमारी रेशमी साहनी 11 महीने से बिना सूचना के गायब हैं। गायब पुलिसकर्मी वेतन भी ले रहे हैं। 
 

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

वाराणसी पुलिस कमिश्नरेट में शुक्रवार की सुबह हड़कंप मच गया। पुलिस आयुक्त ए सतीश गणेश की सख्ती लापरवाह पुलिसकर्मियों पर भारी पड़ी। शुक्रवार की सुबह वाराणसी पुलिस लाइन में साप्ताहिक परेड थी। इसके बाद पुलिस आयुक्त ने बिना सूचना के महीनों से गायब पुलिसकर्मियों की सूची मांग ली। सूची में खुलासा हुआ कि एक इंस्पेक्टर समेत 16 पुलिसकर्मियों का महीनों से पता नहीं चल रहा है। ऐसे पुलिसकर्मी बिना कोई सूचना दिए गायब हैं। पुलिस आयुक्त ने इन 16 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है। वहीं विभागीय जांच भी बैठा दी गई है। 

पुलिस आयुक्त ए सतीश गणेश ने बताया कि गैरहाजिर 16 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। उनके खिलाफ विभागीय जांच भी बैठा दी गई है। ऐसे पुलिसकर्मियों का पिछला रिकार्ड खंगाला जाएगा। उनकी कार्यशैली की जांच के साथ ही फाइलें खोलने के लिए आदेश दिया गया है। पुलिस आयुक्त ने सख्ती दिखाते हुए सभी पुलिसकर्मियों को निर्देश भी दिया है कि अगर वाराणसी पुलिस कमिश्नरेट सिस्टम में लापरवाही की तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी। किसी भी पुलिसकर्मी को कोई समस्या है तो अपने उच्च अधिकारियों को अवगत कराए। 

पुलिस आयुक्त ने गायब पुलिसकर्मियों की रिपोर्ट तलब की तो चौकाने वाला खुलासा हुआ। दशाश्वमेध थाने की महिला आरक्षी कुमारी रेशमी साहनी 11 महीने से गायब हैं। इसके अलावा कई अन्य पुलिसकर्मी ऐसे मिले जो सात से नौ महीने तक बिना किसी सूचना के गायब हैं।

  • लंका: निरीक्षक प्रदीप कुमार 11 मई से गायब हैं। कोरोना पाजिटिव के बाद वापस नहीं आए। वहीं महिला सिपाही राधा राजपूत 20 अक्तूबर से गायब हैं। 
  • आदमपुर: मुख्य आरक्षी सुरेंद्र प्रताप सिंह 21 जून से और सिपाही संजय कुमार राय पांच मार्च से गायब।
  • भेलूपुर: मुख्य आरक्षी राजकुमार यादव सात अप्रैल से, सिपाही शुभम राय 17 जून से और विनय कुमार 25 जनवरी से गायब। 
  • दशाश्वमेध: मुख्य आरक्षी अजय कुमार राना नौ फरवरी से और जेल सुरक्षा में तैनात शिवशंकर सिंह 15 दिसंबर 2020 से गायब।
  • कैंट: मुख्य आरक्षी रामअवतार राव 20 नवंबर 2020 से गायब।
  • कोतवाली: सिपाही विपिन कुमार 23 अप्रैल से गायब। 
  • मंडुआडीह: चालक सिपाही शेख बहादुर सिंह 12 जून से गायब। 
  • यातायात: सिपाही विनोद कुमार यादव एक मई से गायब।
  • अभिसूचना: सिपाही अंगद प्रजापति 18 जून से गायब। 
  • ज्ञानवापी सुरक्षा: सिपाही विपिन कुमार सिंह 21 अप्रैल से गायब। 

रिपोर्ट में खुलासा हुआ कि गायब 16 पुलिसकर्मी वेतन तो ले रहे हैं फिर भी उनका कहीं पता नहीं है। न अपने उच्च अधिकारियों के संपर्क में हैं और न ही कभी किसी से बात हो सकी है। पुलिस आयुक्त ए सतीश गणेश ने जांच बैठा दी है। 

विस्तार

वाराणसी पुलिस कमिश्नरेट में शुक्रवार की सुबह हड़कंप मच गया। पुलिस आयुक्त ए सतीश गणेश की सख्ती लापरवाह पुलिसकर्मियों पर भारी पड़ी। शुक्रवार की सुबह वाराणसी पुलिस लाइन में साप्ताहिक परेड थी। इसके बाद पुलिस आयुक्त ने बिना सूचना के महीनों से गायब पुलिसकर्मियों की सूची मांग ली। सूची में खुलासा हुआ कि एक इंस्पेक्टर समेत 16 पुलिसकर्मियों का महीनों से पता नहीं चल रहा है। ऐसे पुलिसकर्मी बिना कोई सूचना दिए गायब हैं। पुलिस आयुक्त ने इन 16 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है। वहीं विभागीय जांच भी बैठा दी गई है। 

पुलिस आयुक्त ए सतीश गणेश ने बताया कि गैरहाजिर 16 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। उनके खिलाफ विभागीय जांच भी बैठा दी गई है। ऐसे पुलिसकर्मियों का पिछला रिकार्ड खंगाला जाएगा। उनकी कार्यशैली की जांच के साथ ही फाइलें खोलने के लिए आदेश दिया गया है। पुलिस आयुक्त ने सख्ती दिखाते हुए सभी पुलिसकर्मियों को निर्देश भी दिया है कि अगर वाराणसी पुलिस कमिश्नरेट सिस्टम में लापरवाही की तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी। किसी भी पुलिसकर्मी को कोई समस्या है तो अपने उच्च अधिकारियों को अवगत कराए। 

पुलिस आयुक्त ने गायब पुलिसकर्मियों की रिपोर्ट तलब की तो चौकाने वाला खुलासा हुआ। दशाश्वमेध थाने की महिला आरक्षी कुमारी रेशमी साहनी 11 महीने से गायब हैं। इसके अलावा कई अन्य पुलिसकर्मी ऐसे मिले जो सात से नौ महीने तक बिना किसी सूचना के गायब हैं।


आगे पढ़ें

एक नजर में गायब पुलिसकर्मी 

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.