Block Pramukh Elections: In Prayagraj, Samajwadi Party Dominated 11 Seats, Bjp Won 8 Seats – ब्लॉक प्रमुख चुनाव : प्रयागराज में सपा का दबदबा 11 सीटें मिलीं, भाजपा ने आठ सीटें जीतीं 

अमर उजाला नेटवर्क, प्रयागराज
Published by: विनोद सिंह
Updated Sat, 10 Jul 2021 07:28 PM IST

सार

प्रतापगढ़ में भाजपा और जनसत्ता दल को सात-सात सीटों पर कामयाबी मिली है। जबकि सपा का खाता नहीं खुला है। कौशाम्बी में आठ में से भाजपा और सपा को दो-दो और निर्दलियों को चार सीटें मिली हैं।

prayagraj news : मांडा ब्लाक प्रमुख के चुनाव में पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष रेखा सिंह की बहू प्रगति सिंह ने जीत दर्ज की।
– फोटो : prayagraj

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

ब्लॉक प्रमुख चुनाव में प्रयागराज जिले में मुख्य विपक्षी दल सपा ने अपना दमखम दिखाया। जिले की 23 ब्लॉक प्रमुख सीटों में से 11 पर सपा ने कब्जा कब्जा जमाया है। जबकि सत्ताधारी दल भाजपा के खाते में आठ सीटें आईं हैं। निर्दलियों ने दो सीटें जीती हैं। भाजपा से प्रतापपुर में शौलेष यादव और कौंधियारा में सपा के इंद्रनाथ मिश्र निर्विरोध निर्वाचित हुए हैं। अभी दो सीटों पर परिणाम घोषित नहीं किया गया था। 
  
शनिवार सुबह ब्लॉक प्रमुख चुनाव के बाद दो बाद परिणाम आने शुरू हुए। ब्लॉक प्रमुख चुनाव में सत्ताधारी दल भाजपा को निराशा हाथ लगी। भाजपा ने 23 में से आठ सीटों पर कब्जा जमाया है। पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष रेखा सिंह की बहू प्रगति सिंह मांडा से चुनाव जीतने में कामयाब रहीं। बसपा के पूर्व विधायक राजबली जैसल की पत्नी राजकुमारी जैसल मेजा से चुनाव हार गईं हैं।

सपा ने जिले में सर्वाधिक 11 सीटों पर कब्जा जमाया है। अभी दोसीटों पर परिणाम घोषित नहीं किया गया है। देर शाम तक नतीजे आने की संभावना है।  इधर, नैनी के चाका में बीडीसी सदस्य मुमताज हुसैन को सरेआम अगवा करने का प्रयास किया गया। इसका वीडियो भी वायरल हुआ है। उधर, चाका ब्लॉक की पालपुर ग्रामसभा से क्षेत्र पंचायत सदस्य मोहम्मद रिजवान के भाई का आरोप है कि वोट डालकर बाहर आते वक्त रिजवान को कुछ लोग काले रंग की सफ ारी में खींच कर भाग निकले।
 

प्रतापगढ़ में सपा का सूपड़ा साफ, भाजपा और जनसत्ता दल को सात-सात सीटें

ब्लॉक प्रमुख के चुनाव में प्रतापगढ़ में सपा का सूपड़ा साफ हो गया है। सपा एक भी सीट नहीं जीत सकी। सात सीटें भाजपा के खाते में आईं हैं। सात सीटों पर जनसत्ता दल समर्थित प्रत्याशियों को जीत मिली है। भाजपा अपने पांच ब्लॉक प्रमुख निर्विरोध निर्वाचित कराने में सफल रही। कैबिनेट मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह मोती सिंह के बेटे राजीव प्रताप सिंह नंदन मंगरौरा और भतीजे राकेश सिंह पट्टी से निर्विरोध ब्लॉक प्रमुख बने हैं। रानीगंज से भाजपा विधायक धीरज ओझा के भतीजे शिवगढ़ ब्लॉक से प्रमुख बने हैं। कांग्रेस के दिग्गज नेता प्रमोद तिवारी भी अपने क्षेत्र में तीन प्रत्याशियों केे जिताने में कामयाब रहे हैं। कुंडा के साथ सदर में भी राजाभैया का जादू चला। कुंडा में चार सीटों पर जनसत्ता दल के प्रत्याशी चुनाव जीते हैं। सदर विधानसभा की तीन सीटों पर भी राजाभैया के करीबियों ने जीत हासिल की है।

आसपुर देवसरा में चुनाव के दौरान हुआ बवाल
काबीना मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह मोती सिंह के विधानसभा क्षेत्र पट्टी के आसपुर देवसरा ब्लॉक में चुनाव के दौरान बवाल हो गया। सपाइयों ने फर्जी वोटिंग का आरोप लगाते हुए पुलिस को दौड़ा लिया। पुलिस पर पथराव किया गया। हालात नियंत्रित करने के लिए पुलिस को हवाई फायरिंग करनी पड़ी। आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े। तब जाकर हालात सामान्य हुए। यहां से भाजपा प्रत्याशी कमलाकांत यादव चुनाव जीते हैं।

कौशाम्बी में सपा-भाजपा ने दो-दो और निर्दलियों का चार सीट पर कब्जा
मंझनपुर (कौशाम्बी)। ब्लॉक प्रमुख पद के चुनाव में जिले की आठ सीटों में से सर्वाधिक चार पर निर्दलियों ने कब्जा जमाया। जबकि, भाजपा और सपा ने दो-दो सीटों पर जीत हासिल की। डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के गृहनगर सिराथू ब्लॉक से भाजपा प्रत्याशी सीतू मौर्या चुनाव जीत गईं। मंझनपुर ब्लॉक से भी सदर विधायक लालबहादुर की रिश्तेदार सरला राय निर्वाचित हुईं हैं। जबकि मूरतगंज से सपा प्रत्याशी रामप्रसाद और कड़ा से अनुज सिंह निर्वाचित घोषित किए गए हैं। चायल से निर्दलीय दिलीप प्रजापति पहले ही निर्विरोध चुनाव जीत गए थे। इसके अलावा सरसवां से निर्दलीय अमर सिंह और कौशाम्बी सीट पर संध्या द्विवेदी ने जीत हासिल की। नेवादा ब्लॉक में बराबर मत मिलने की वजह से मुकाबला टाई हो गया। यहां जो भी चुनाव जीतेगा वह भी निर्दलीय होगा।

विस्तार

ब्लॉक प्रमुख चुनाव में प्रयागराज जिले में मुख्य विपक्षी दल सपा ने अपना दमखम दिखाया। जिले की 23 ब्लॉक प्रमुख सीटों में से 11 पर सपा ने कब्जा कब्जा जमाया है। जबकि सत्ताधारी दल भाजपा के खाते में आठ सीटें आईं हैं। निर्दलियों ने दो सीटें जीती हैं। भाजपा से प्रतापपुर में शौलेष यादव और कौंधियारा में सपा के इंद्रनाथ मिश्र निर्विरोध निर्वाचित हुए हैं। अभी दो सीटों पर परिणाम घोषित नहीं किया गया था। 

  

शनिवार सुबह ब्लॉक प्रमुख चुनाव के बाद दो बाद परिणाम आने शुरू हुए। ब्लॉक प्रमुख चुनाव में सत्ताधारी दल भाजपा को निराशा हाथ लगी। भाजपा ने 23 में से आठ सीटों पर कब्जा जमाया है। पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष रेखा सिंह की बहू प्रगति सिंह मांडा से चुनाव जीतने में कामयाब रहीं। बसपा के पूर्व विधायक राजबली जैसल की पत्नी राजकुमारी जैसल मेजा से चुनाव हार गईं हैं।

सपा ने जिले में सर्वाधिक 11 सीटों पर कब्जा जमाया है। अभी दोसीटों पर परिणाम घोषित नहीं किया गया है। देर शाम तक नतीजे आने की संभावना है।  इधर, नैनी के चाका में बीडीसी सदस्य मुमताज हुसैन को सरेआम अगवा करने का प्रयास किया गया। इसका वीडियो भी वायरल हुआ है। उधर, चाका ब्लॉक की पालपुर ग्रामसभा से क्षेत्र पंचायत सदस्य मोहम्मद रिजवान के भाई का आरोप है कि वोट डालकर बाहर आते वक्त रिजवान को कुछ लोग काले रंग की सफ ारी में खींच कर भाग निकले।

 

प्रतापगढ़ में सपा का सूपड़ा साफ, भाजपा और जनसत्ता दल को सात-सात सीटें

ब्लॉक प्रमुख के चुनाव में प्रतापगढ़ में सपा का सूपड़ा साफ हो गया है। सपा एक भी सीट नहीं जीत सकी। सात सीटें भाजपा के खाते में आईं हैं। सात सीटों पर जनसत्ता दल समर्थित प्रत्याशियों को जीत मिली है। भाजपा अपने पांच ब्लॉक प्रमुख निर्विरोध निर्वाचित कराने में सफल रही। कैबिनेट मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह मोती सिंह के बेटे राजीव प्रताप सिंह नंदन मंगरौरा और भतीजे राकेश सिंह पट्टी से निर्विरोध ब्लॉक प्रमुख बने हैं। रानीगंज से भाजपा विधायक धीरज ओझा के भतीजे शिवगढ़ ब्लॉक से प्रमुख बने हैं। कांग्रेस के दिग्गज नेता प्रमोद तिवारी भी अपने क्षेत्र में तीन प्रत्याशियों केे जिताने में कामयाब रहे हैं। कुंडा के साथ सदर में भी राजाभैया का जादू चला। कुंडा में चार सीटों पर जनसत्ता दल के प्रत्याशी चुनाव जीते हैं। सदर विधानसभा की तीन सीटों पर भी राजाभैया के करीबियों ने जीत हासिल की है।

आसपुर देवसरा में चुनाव के दौरान हुआ बवाल

काबीना मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह मोती सिंह के विधानसभा क्षेत्र पट्टी के आसपुर देवसरा ब्लॉक में चुनाव के दौरान बवाल हो गया। सपाइयों ने फर्जी वोटिंग का आरोप लगाते हुए पुलिस को दौड़ा लिया। पुलिस पर पथराव किया गया। हालात नियंत्रित करने के लिए पुलिस को हवाई फायरिंग करनी पड़ी। आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े। तब जाकर हालात सामान्य हुए। यहां से भाजपा प्रत्याशी कमलाकांत यादव चुनाव जीते हैं।

कौशाम्बी में सपा-भाजपा ने दो-दो और निर्दलियों का चार सीट पर कब्जा

मंझनपुर (कौशाम्बी)। ब्लॉक प्रमुख पद के चुनाव में जिले की आठ सीटों में से सर्वाधिक चार पर निर्दलियों ने कब्जा जमाया। जबकि, भाजपा और सपा ने दो-दो सीटों पर जीत हासिल की। डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के गृहनगर सिराथू ब्लॉक से भाजपा प्रत्याशी सीतू मौर्या चुनाव जीत गईं। मंझनपुर ब्लॉक से भी सदर विधायक लालबहादुर की रिश्तेदार सरला राय निर्वाचित हुईं हैं। जबकि मूरतगंज से सपा प्रत्याशी रामप्रसाद और कड़ा से अनुज सिंह निर्वाचित घोषित किए गए हैं। चायल से निर्दलीय दिलीप प्रजापति पहले ही निर्विरोध चुनाव जीत गए थे। इसके अलावा सरसवां से निर्दलीय अमर सिंह और कौशाम्बी सीट पर संध्या द्विवेदी ने जीत हासिल की। नेवादा ब्लॉक में बराबर मत मिलने की वजह से मुकाबला टाई हो गया। यहां जो भी चुनाव जीतेगा वह भी निर्दलीय होगा।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.