Bikru Scandal: Decision Reserved On Bail Of Amar Dubey’s Wife Khushi Dubey – बिकरू कांड : अमर दुबे की पत्नी खुशी दुबे की जमानत पर फैसला सुरक्षित

{“_id”:”60ddc7b6b496945479483b49″,”slug”:”bikru-scandal-decision-reserved-on-bail-of-amar-dubey-s-wife-khushi-dubey”,”type”:”story”,”status”:”publish”,”title_hn”:”u092cu093fu0915u0930u0942 u0915u093eu0902u0921 : u0905u092eu0930 u0926u0941u092cu0947 u0915u0940 u092au0924u094du0928u0940 u0916u0941u0936u0940 u0926u0941u092cu0947 u0915u0940 u091cu092eu093eu0928u0924 u092au0930 u092bu0948u0938u0932u093e u0938u0941u0930u0915u094du0937u093fu0924″,”category”:{“title”:”City & states”,”title_hn”:”u0936u0939u0930 u0914u0930 u0930u093eu091cu094du092f”,”slug”:”city-and-states”}}

अमर उजाला नेटवर्क, प्रयागराज
Published by: विनोद सिंह
Updated Thu, 01 Jul 2021 07:18 PM IST

सार

कानपुर के चर्चित बिकरू कांड में आरोपी बनाई गई नवनिवाहिता खुशी दुबे की जमानत अर्जी पर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने लंबी बहस सुनने के बाद अपना निर्णय सुरक्षित कर लिया है।

गैंगस्टर विकास दुबे (फाइल फोटो)
– फोटो : Amar Ujala

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

कानपुर के चर्चित बिकरू कांड में आरोपी बनाई गई नवनिवाहिता खुशी दुबे की जमानत अर्जी पर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने लंबी बहस सुनने के बाद अपना निर्णय सुरक्षित कर लिया है। खुशी दुबे में घटना के आरोपी और पुलिस एनकाउंटर में मारे गए अमर दुबे की पत्नी है। जमानत अर्जी पर न्यायमूर्ति जेजे मुनीर ने सुनवाई की। 

याची की ओर से अधिवक्ता प्रभाशंकर मिश्र ने पक्ष रखा। उनका कहना था कि याची पूरी तरह से बेगुनाह है। मात्र अमर दुबे की पत्नी होने के कारण पुलिस ने उसे मामले में आरोपी बना दिया। जबकि घटना से तीन दिन पहले ही उसकी शादी हुई थी। घटना में उसकी कोई भूमिका नहीं है। इसके बावजूद पुलिस ने उसके खिलाफ गंभीर धाराएं लगाई हैं जिनका कोई सीधा साक्ष्य भी नहीं है।

प्रदेश सरकार की ओर से अपर महाधिवक्ता मनीष गोयल ने जमानत का विरोध करते हुए कहा कि आरोपी इस घटना के अभियुक्त की पत्नी और सहयोगी रही है। घटना बेहद गंभीर थी।  एक डिप्टी एसपी सहित कई पुलिस वालों की हत्या कर दी गई। इससे पूरे राज्य में भय और दहशत का माहौल बना। कोर्ट ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद अपना निर्णय सुरक्षित कर लिया है।

विस्तार

कानपुर के चर्चित बिकरू कांड में आरोपी बनाई गई नवनिवाहिता खुशी दुबे की जमानत अर्जी पर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने लंबी बहस सुनने के बाद अपना निर्णय सुरक्षित कर लिया है। खुशी दुबे में घटना के आरोपी और पुलिस एनकाउंटर में मारे गए अमर दुबे की पत्नी है। जमानत अर्जी पर न्यायमूर्ति जेजे मुनीर ने सुनवाई की। 

याची की ओर से अधिवक्ता प्रभाशंकर मिश्र ने पक्ष रखा। उनका कहना था कि याची पूरी तरह से बेगुनाह है। मात्र अमर दुबे की पत्नी होने के कारण पुलिस ने उसे मामले में आरोपी बना दिया। जबकि घटना से तीन दिन पहले ही उसकी शादी हुई थी। घटना में उसकी कोई भूमिका नहीं है। इसके बावजूद पुलिस ने उसके खिलाफ गंभीर धाराएं लगाई हैं जिनका कोई सीधा साक्ष्य भी नहीं है।

प्रदेश सरकार की ओर से अपर महाधिवक्ता मनीष गोयल ने जमानत का विरोध करते हुए कहा कि आरोपी इस घटना के अभियुक्त की पत्नी और सहयोगी रही है। घटना बेहद गंभीर थी।  एक डिप्टी एसपी सहित कई पुलिस वालों की हत्या कर दी गई। इससे पूरे राज्य में भय और दहशत का माहौल बना। कोर्ट ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद अपना निर्णय सुरक्षित कर लिया है।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.