BENIPATTI : अधवारा समूह की नदियों का जलस्तर में वृद्धि जारी, बारिश रुकी

करहारा व बर्री समेत अन्य पंचायत के कई गांवों में फैला बाढ़ का पानी

टापू में तब्दील हुआ कई गांव, कई सड़कें टूट कर बह गयी, कई टूटने के कगार पर, आवागमन बाधित

समदा, बेतौना, सलहा, कटैया, गंगुली व विशनपुर पंचायत के कई गांवों में भी फैला है बाढ़ का पानी

बेनीपट्टी : अनुमंडल क्षेत्र में पिछले कई दिनों से लगातार हुई बारिश का कहर अब बाढ़ की विभीषिका के रूप ले चुका है. अधवारा समूह की सभी सहायक नदियों के जल स्तर में वृद्धि जारी है. हालांकि फिलहाल दो दिनों से बारिश बंद है और धूप भी निकली हुई है. लेकिन आधे दर्जन पंचायतों के कई गांवों में बाढ़ का पानी प्रवेश कर चुका है.

धौंस, बछराजा, खिरोई, थुमहानी सीतामढ़ी की ओर से आनेवाली कोकराझाड़, बुढ़नद व बुढ़िया माई आदि अन्य नदियों का जलस्तर में वृद्धि का असर करहारा, बिरदीपुर, सोहरौल, इस्लामिया टोल, सलहा, बेतौना, बर्री, राजघट्टा, धनुषी, फुलबरिया, सिरवारा, माधोपुर, रजबा, विशे लडुगामा, भगवतीपुर, अगई, कटैया, गंगुली व अंधरी सहित अन्य इलाके में दिखने लगा है. सभी खेतों में दो से ढाई फुट पानी फैल गया है और धान व धान के बिचड़े आदि डूब गये हैं. मावेशियों के चारा जुटाने की परेशानी पशुपालकों के सामने आ गयी है. यहां तक कि कई घरों में भी बाढ़ का पानी प्रवेश कर गया है.

लडुगामा-भगवतीपुर-अगइ पथ, सोहरौल से त्रिमुहान व मकिया विशनपुर से बर्री जानेवाली सड़क पर दो से ढाई फुट ऊंचाई में बाढ़ का पानी चलने के कारण टुट चुकी है तो शिवनगर से माधोपुर-बर्री, बेतौना से सोहरौल और सलहा से मधवापुर के पहिपुरा जानेवाली सड़क पर बाढ़ का पानी चढ़ने के कारण टूट कर ध्वस्त हो गयी है.

ADVERTISEMENT

विशे लडूगामा गांव के मेंहदीगाछी के समीप मुख्य सड़क पर पानी चढ़ जाने से विशे लडुगामा-भगवतीपुर मुख्य सडक टूट गयी है. सोहरौल से डीहटोल के समीप होते हुए बिरदीपुर जानेवाली सड़क कट कर पानी में बह चुकी है. इन सभी जगहों से आवागमन ठप सा हो गया है.

उधर करहारा सोहरौल स्थित धौंस नदी के तीन जगहों पर टूटे तटबंध से पानी का फैलाव गांव की ओर जारी है. कुल मिलाकर करहारा और बर्री पंचायत के अधिकांश गांव हर तरफ से पानी से घिर गया है.

ADVERTISEMENT

करहारा के बिरदीपुर, सोहरौल, हथियारवाटोल, समदा के इस्लामिया टोल, बर्री के धनुषी, रजबा, रजिया, राजघट्टा, फुलबरिया, सिरवारा, बाजितपुर, कटैया और गंगुली के अंधरी आदि गांव टापुओं में तब्दील होकर रह गया है. आवागमन ठप है. सोइली से गुलरिया टोल में बना डायवर्सन कटने के कगार पर पहुंच चुका है और सोइली से करहारा पथ निचले इलाके में होने से कारण करीब तीन से साढ़े तीन फुट पानी चल रहा है.

करहारा, बेतौना बर्री, पाली, दामोदरपुर सहित अन्य मैदानी इलाकों में बाढ़ का पानी फैल चुका है. जहां धान के बिछड़े डूब चुके हैं. कुल मिलाकर इस बाढ़ के पानी से मची तबाही से आधे दर्जन पंचायत के करीब एक लाख लोग प्रभावित हैं. कमोबेश यही स्थिति अन्य बाढ़ प्रभावित इलाकों की भी है.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.