शाहपुर में खिरोई नदी के किनारे पर बना वाटरवेज बांध मरम्मती के नाम पर खानापूरी

दुरुस्त करने के बजाय बांध से मिट्टी काटकर किया जा रहा कमजोर

बेनीपट्टी : प्रखंड में सुरक्षा बांधों के मरम्मती के नाम पर खानापूरी करने की शिकायतें तो आम रही है. हद तो यह है कि प्रशासन के नाक के नीचे लोगों को बाढ़ का खुला आममत्रं दिया जाना कम चौकानेवाली बात नही है.

एक तरफ पूरा प्रशासनिक अमला बाढ़ की विभीषिका से निबटने की मुकम्मल तैयारी किये जाने का ढिढोरा पिटवा रही है तो दूसरे ओर कई जगहों पर टूटकर प्रशासन के दावे की कलई खोलने में कोई कोर कसर नही छोड़ रहा है. इधर कभी धौंस नदी के तटबंध से तो कभी वाटरवेज बांध से मिट्टी काटने का सिलसिला अनवरत जारी है.

इतना ही नही बल्कि आमजनों की सुरक्षा करने वाली सुरक्षा बांध को विभाग और कार्य करने वाले संवेदक द्वारा मजबूत बनाने के बजाय कमजोर बनाया जा रहा है. जिसके कारण कभी भी बांध टूट सकती है और तबाही मच सकती है.

ADVERTISEMENT

बताते चलें कि शाहपुर पंचायत के अग्रोपट्टी में खिरोई नदी के ठीक किनारे पर वाटरवेज बांध बना है. जहां समय रहते मरम्मति तो की नही जा सकी और जब नदी के पानी बढ़ा और पानी का दबाब बढ़ने लगा तो इसी बांध से मिट्टी काटकर मरम्मति की खानापूरी की जा रही है. जो लोगों किये तबाही का सबब बन सकता है. मिली जानकारी के अनुसार वाटरवेज बांध खिरोई नदी के रौद्र रूप से शाहपुर गांव के सैकड़ों परिवारों की सुरक्षा करता है.

बांध कई स्थानों पर क्षतिग्रस्त है. जिसका विभागीय निर्देश के आलोक में मरम्मती कार्य किया जा रहा है. लेकिन मरम्मती के नाम खानापूर्ति कर बांध को और कमजोर बनाया जा रहा. शाहपुर के लक्ष्मण साह, रामशरण साह, भोगी खतबे, बेला खतबे, नचारी खतबे सहित दर्जनों लोगों ने बताया कि बांध की स्थिति पहले से ही बहुत खराब है. और बांध से कुछ दूरी पर ही खिरोई नदी है. जिसमें काफी जलस्तर बढ़ा हुआ है. जो कभी भी खतरा उत्पन्न कर सकता है. कई स्थानों पर बांध क्षतिग्रस्त है तो कई स्थानों पर कटाव कर रही. मरम्मती करने वाले संवेदक द्वारा जिन स्थानों पर बांध क्षतिग्रस्त है, वहीं से जेसीबी से मिट्टी काटकर पुनः बांध पर ही दिया जा रहा है.

ADVERTISEMENT

ग्रामीणों ने बताया कि दूसरे स्थानों से मिट्टी लाकर बांध पर देने की बात कहकर काम रोकने का प्रयास किया गया, लेकिन विभाग और ठेकेदार का आदेश है कि जहां बांध क्षतिग्रस्त है, वहीं से मिट्टी काटकर ऊपर बांध पर देने की बात कहकर जेसीबी मशीन संचालक काम नही रोका. संवेदक की लापरवाही और मनमानी से बांध पहले से अधिक कमजोर हो जाने से सहमे हुए ग्रामीणों ने सीओ, एसडीएम और जिलाधिकारी से जांच करा दोषियों पर कार्रवाई की मांग की है.

इस संबंध में सीओ पल्लवी कुमारी गुप्ता ने बताया कि मामला संज्ञान में नही था, अब आया है, जांच कराकर आगे की कार्रवाई की जायेगी.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.