बैंक से फर्जी निकासी मामले में जांच से संतुष्ट नही खाताधारी

बैंकिंग लोकपाल को पत्र भेजकर मामले की निष्पक्ष जांच की मांग

मामला बिशौल बैंक ऑफ इंडिया शाखा का

खाताधारी ने कैशियर पर लगाया है पांच लाख की फर्जी निकासी कर लेने का आरोप

हरलाखी : प्रखंड के बैंक ऑफ इंडिया बिशौल शाखा के खाताधारी फजिला खातून ने अपने खाते से पांच लाख की फर्जी निकासी मामले की जांच से संतुष्ट नही है। उन्होंने पुनः बैंकिंग लोकपाल आरबीआई पटना व प्रधान कार्यालय मुम्बई को ऑनलाइन पत्र भेजकर पुनः निपक्ष जांच कर कैशियर व शाखा प्रबंधक के ऊपर करवाई की मांग की है।

उन्होंने बताया कि उनके पति विदेश सऊदी अरब रहता था। एव वही से मजदूरी कर रुपये खाता में भेजते थे। जंहा बिशौल बैंक के कैशियर के द्वारा जालसाजी कर कई बार मेरे खाता से पांच लाख की फर्जी निकासी कर लिए। जब पति विदेश से घर आया। और पासबुक अपडेट कराने बैंक गया। तो मशीन खराब कहकर अपटूडेट नही किया। जब बैंक स्टेटमेंट निकाले। तो फर्जी निकासी का मामला सामने आया। उसके बाद कैशियर को कहने पर 49 हजार राशि खाता में जमा भी कर दिया। जबकि अन्य बांकी राशि नही दिया जा रहा है।

इस मामले को पहले शिकायत करने पर बैंक के जोनल कार्यालय से एरिया ऑफिसर को मामले की जांच का आदेश दिया। परन्तु वे जांच पूरा किये अधरे जांच रिपोर्ट समिट करने व कैशियर व प्रबंधक से मिलीभगत करने का आरोप लगाया है। तथा पुनः जांच की मांग करते हुए न्याय दिलाने की गुहार लगाई है।

ADVERTISEMENT

इस सबंध में जोनल कार्यालय मुजफ्फरपुर के जेडएम आरके सिंह ने मोबाइल पर बताया कि एरिया मैनेजर सीतामढ़ी को मामले की जांच का आदेश दिया गया। उनके द्वारा मामले की जांच की गई। जांच में खाताधारी के द्वारा कोई सहयोग नही किया गया। इससे साबित होता है कि आरोप सत्य नही है। वही कई वर्षों से जमे बैंक पदाधिकारी पर कार्रवाई करने की बात कही है। 

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.