बेनीपट्टी में अधवारा समूह की नदियों का जलस्तर में वृद्धि जारी

सोहरौल से उच्चैठ जानेवाली मुख्य सड़क में दो जगहों पर हुआ कटाव

माधोपुर से विशनपुर, बाणेश्वर स्थान से बर्री, बर्री सेराजघट्टा, राजघट्टा, से फुलबरिया जानेवाली सड़कों में भी हुआ कटाव

करहारा व बर्री समेत अन्य पंचायत के कई गांवों में फैला बाढ़ का पानी

कई गांवों को टापू में तब्दील होने के बाद भी बाढ़ को नही स्वीकारने पर अड़ा प्रशासन

नाव तक नही कराया जा रहा मुहैया, प्रशासन के खिलाफ गहराने लगा आक्रोश

बेनीपट्टी : प्रखंड के करहारा और बर्री पंचायत पूर्णतया बाढ़ की चपेट में आ चुका है. इन दोनों पंचायतों की सभी सड़कें बाढ़ की भेंट चढ़ चुकी है. कई गांव चारों ओर से पानी से घिरकर टापू बन चुके हैं, जहां पहुंच पाना किसी चुनौती से कम नही है. आवागमन ठप हो चुका है लोग घरों में कैद हैं बावजूद प्रशासन बाढ़ को स्वीकारने में आनाकानी कर रहा है. यहां तक कि सरकारी स्तर से नाव भी मुहैया नही कराया जा रहा है. आवागमन बहाली के लिये नाव उपलब्ध कराने की मांग जोर पकड़ चुकी है पर प्रशासन अपनी ही जीद पर अड़ा है.

जिससे अब बाढ़ प्रभावित इलाके के लोगों में प्रशासन के खिलाफ आक्रोश गहराने लगा है, जो कभी भी देखने को मिल सकता है. पूरे प्रखंड क्षेत्र के सैंकड़ों घरों में बाढ़ का पानी प्रवेश कर चुका है. अधवारा समूह की सभी सहायक नदियों के जल स्तर में वृद्धि जारी है. हालांकि आधे दर्जन पंचायतों के कई गांवों में बाढ़ का पानी प्रवेश कर चुका है. धौंस, बछराजा, खिरोई, थुमहानी सीतामढ़ी की ओर से आनेवाली कोकराझाड़, बुढ़नद व बुढ़िया माई आदि अन्य नदियों का जलस्तर में वृद्धि का असर करहारा, बिरदीपुर, सोहरौल, इस्लामिया टोल, सलहा, समदा, उच्चैठ, बर्री, राजघट्टा, धनुषी, फुलबरिया, सिरवारा, माधोपुर, रजबा, रजिया, बाजितपुर, भगवतीपुर बगवासा, अगई, गंगुली व अंधरी सहित अन्य इलाके में दिखने लगा है. सभी खेतों में दो से ढाई फुट पानी फैल गया है

और धान व धान के बिचड़े आदि डूब गये हैं. मवेशियों के चारा जुटाने की परेशानी पशुपालकों के सामने आ गयी है. यहां तक कि कई घरों में भी बाढ़ का पानी प्रवेश कर गया है. उच्चैठ सोहरौल जानेवाली सड़क दो जगहों और अगइ बगवासा सड़क टूट चुकी है. सोहरौल से त्रिमुहान व विशनपुर से माधोपुर जानेवाली सड़क टुट चुकी है. फुलबरिया से राजघट्टा, सिरवारा, माधोपुर जानेवाली सभी सड़कें कई जगहों पर टूट चुकी है. बेतौना से सोहरौल पथ पर कमर भर पानी फैला है. सलहा से मधवापुर के पहिपुरा जानेवाली सड़क पर बाढ़ का पानी चढ़ने के कारण टूट कर ध्वस्त हो गयी है. सोहरौल से डीहटोल के समीप होते हुए बिरदीपुर जानेवाली सड़क कट कर पानी में बह चुकी है. करहारा के बिरदीपुर, हथियारवा टोल, सोहरौल, गुलरिया टोल के अलावे बर्री पंचायत के सभी गांवों का हाल सबसे बुरा है.

ADVERTISEMENT

 सोइली से गुलरिया टोल में बना डायवर्सन कटने के कगार पर पहुंच चुका है और सोइली से करहारा पथ निचले इलाके में होने से कारण करीब तीन से साढ़े तीन फुट पानी चल रहा है. करहारा, बेतौना बर्री, पाली, दामोदरपुर सहित अन्य मैदानी इलाकों में बाढ़ का पानी फैल चुका है. जहां धान के बिछड़े डूब चुके हैं. कुल मिलाकर इस बाढ़ के पानी से मची तबाही से आधे दर्जन पंचायत के करीब एक लाख लोग प्रभावित हैं. कमोबेश यही स्थिति अन्य बाढ़ प्रभावित इलाकों की भी है.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.