बेगूसराय में बने इस पुल का 6 वर्षों में नहीं तैयार हो सका एप्रोच पथ, 25 हजार से अधिक आबादी प्रभावित


न्यूज डेस्क : गांव को सड़क,पुल एवं पुलिया के माध्यम से शहर से जोड़ने की कवायद बिहार सरकार के द्वारा जोड़ो पर है। उसका सीधा मकसद है गांव के लोगों को आर्थिक रूप से सक्षम और विकसित करने की। लेकिन कुछ जगहों पर पुल – पुलिया एवं सड़क निर्माण में लगे निजी कंपनी के संवेदक की उदासीनता के कारण राज्य सरकार का यह प्रयास विफल होता नजर आ रहा है।

एक ऐसा ही मामला बेगूसराय जिला में बिहार सरकार ग्रामीण कार्य विभाग,कार्य प्रमण्डल तेघड़ा नवार्ड ब्रिज योजना अंतर्गत तेघड़ा प्रखण्ड के गंगा नदी के पीछे हाई लेवल ब्रिज वाटर चैनल दुर्गा मंदिर के पास घटकिन्डी बरौनी दो पंचायत के पुल निर्माण कार्य हुआ । इसका शिलान्यास साल 2015 में 5 करोड़ 93 लाख 75 हजार 12 रूपये की राशि से किया गया।उक्त पुल का निर्माण कार्य दो वर्षों की अवधि में समाप्त कर ग्रामीणों की सुविधा के लिए समर्पित किया जाना था। जो दुर्भाग्यवश 2021 आने के बाद यानी छह वर्षों तक भी पुरा नहीं हो सका।

वहीं इस मामले में ग्रामीण एवं भाजपा नेता सह मुखिया प्रत्याशी देवराज सिंह,शंभु कुमार,सुभाष प्रसाद सिंह,विवेका सिंह, संजीव सिंह ने कहा 25 हजार से अधिक आबादी के लोगों की आर्थिक सम्पन्नता में इस पुल का पुर्नतः निर्माण नहीं हो पाना बहुत बड़ी बाधक है।लोगों ने बताया कि पुल का निर्माण हो चुका है लेकिन एप्रोच पथ नहीं बनाये जाने के कारण काफी परेशानियों का सामना करना पडता है।कई बार इसकी शिकायत प्रखण्ड से जिला तक के पदाधिकारियों को हम ग्रामीणों ने किया तो एप्रोच पथ पर किसी तरह मिट्टी भराई कराया गया।

जो बारिश के मौसम में फिसलन और किचर के कारण काफी खतरनाक और जानलेवा बन जाती है तो गंगा नदी के बढ़ते जल स्तर से एप्रोच पथ पर डाली गई मिट्टी कटाव में बह जाती है।ग्रामीणों ने बताया कि ओम कंस्ट्रक्शन आरा की निजी कंपनी के संवेदक द्वारा बार बार मिट्टी भराई के नाम पर पदाधिकारी का निरिक्षण करा कर सराकारी राशि का दुरूपयोग किया जा रहा है।जबकि इस पुल निर्माण एवं एप्रोच पथ के लिए लगभग छह करोड़ की राशि आवंटित सरकार द्वारा किया गया है।और इन छह वर्षों में पुल का निर्माण तो हो गया पर एप्रोच पथ आजतक नहीं बन सका है।

ग्रामीणों ने कहा इस पुल के पूर्ण रूपेन निर्माण कार्य हो जाने से इस क्षेत्र के लोगों के बच्चे शिक्षा,व्यवसाय के साथ आर्थिक रूप से सक्षम हो पाने की दिशा में आगे बढ़ पायेंगे।लोगों ने राज्य सरकार एवं संबंधित विभाग के बेगूसराय जिला पदाधिकारी से इस दिशा में पहल कर कार्यवाई करने का आग्रह किया है।बताते चलें कि कि यह पुल तेघड़ा प्रखण्ड अंतर्गत बरौनी दो पंचायत के नौ,दस एवं छह वार्ड के बीच है।         



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.