उत्साह के साथ मनाया गया नवजीवन हेल्थ केयर सेंटर का दुसरा स्थापना दिवस।

बिस्फी : आज़ समाज मे ग्रामीण चिकित्सकों की भूमिका को नजर अंदाज करना किसी भी हालत में उचित नही है।यह बातें आज प्रखंड क्षेत्र के नरसाम बाजार स्थित नवजीवन हेल्थ केयर सेंटर की दूसरी स्थापना दिवस के अवसर पर दिल्ली एम्स हॉस्पिटल से आए डा.अमित कुमार साह ने कहा।अपने उद्घाटन भाषण में उन्होंने कहा इस कोरोना लहर के समय शहरों के डॉक्टर अधिक फि लेते थे औऱ रोगियों से दूरी बनाकर ही इलाज करते थे।यह किसी भी स्थिति में उचित नही है जब डॉक्टर रोगी से बचेंगे तो रोगी की जान कैसे बचेगी।इस समय में यदि ये ग्रामीण चिकित्सक अपनी क्षमता के अनुसार रोगियों की सेवा नही करते तो आज स्थिति दूसरी ही होती।

उन्होंने लोगो से चिकित्सको की प्रति अपना विश्वास बनाए रखने को कहा एवं उन्होंने चिकित्सकों से भी लोगो के विश्वास पर खड़े उतरने की सलाह दी।मुखिया संघ के संयोजक छोटे पंजियार ने कहा कि इस ग्रामीण क्षेत्र में जो किसी भी शहरी क्षेत्र से काफी दूर है एक वर्ष के अंदर इसकी सेवा को नकार नही सकते।खासकर कोरोना काल मे भी गरीब लोगों के लिए बरदान सिद्ध हुआ है।डेंटल चिकित्सक डा.ओमप्रकाश ने कहा कि मुझे विश्वास है कि आने वाले समय मे यह नवजीवन हेल्थ केयर सेंटर यंहा के रोगियों को शहरों पर निर्भरता कम करेगा।

मौके पर डा.असलम ,डा. रामावतार रमण ,पारामेडिकल इंस्टिचियूट के रंजीत ठाकुर ,पतौना ओपी अध्यक्ष विजय पासवान ,लखन चौधरी, कुमार प्रभाकर ने अपना विचार प्रकट किया।कार्यक्रम की अध्यक्षता डा.घनश्याम पंजियार ने की जबकि मंच संचालन मीडिया प्रभारी डा.सत्यनारायण यादव ने की।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.